कुम्भ में 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को दी जाएगी आरएफ आईडी

-रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान पत्र को वायरलेस से जोड़ा जाएगा
-बच्चों को ध्यान में रखते हुए 40 हजार आरएफआईडी बनाई जाएगी

लखनऊ। कुभ मेले के दौरान अपने अभिभावकों से बिछुड़ने वाले बच्चों का पता लगाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचानपत्र (आरएफ आईडी) मुहैया कराएगी। प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने सोमवार को यह जानकारी दी।

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि कुम्भ मेला 50 दिन चलेगा आैर इसमें 12 करोड़ से अधिक लोग शामिल होंगे। बच्चे लापता ना होने पायें, इसके लिए 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को आरएफआईडी दी जाएगी। इसके लिए वोडाफोन कम्पनी से सहयोग लिया गया है आैर वह समन्वय को राजी है। बच्चों को ध्यान में रखते हुए 40 हजार आरएफआईडी बनाई जाएगी।

श्री सिंह ने बताया कि आरएफआईडी एक तरह का वायरलेस संचार माध्यम है। इसमें इलेक्ट्रो मैग्नेटिक या इलेक्ट्रोस्टैटिक कफलिंग का इस्तेमाल होता है। यह किसी व्यक्ति या वस्तु की पहचान में सहायक होता है। ज्ञात हो कि नहान के लिए आने वाली भीड़ की सम्भावना को देखते हुए कुम्भ मेले में 15 आधुनिक एकीकृत डिजिटल खोया-पाया केन्द्र बनाये गये हैं। इसके अलावा सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के अलावा एलईडी के जरिए सूचना के डिस्प्ले की भी व्यवस्था की गयी है। डीजीपी श्री सिंह ने बताया कि पहली बार ऑटोमैटिक नम्बर प्लेट पहचान प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा। यह वाहनों की पहचान उनके रंग, लाइसेंस प्लेट, तारीख आैर समय से करेगा।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *