बॉक्सिंग अकादमी में लड़के व लड़की दोनों को देंगे नि:शुल्क प्रशिक्षण

कॉमनवेल्थ गेम्स में देश को पदक दिलाने वाले मंदीप जांगड़ा अब राजस्थान के सीकर में बॉक्सिंग अकादमी खोलेंगे। ये धाँसू बॉक्सर युवाओं को नि:शुल्क प्रशिक्षण देगा। ये अकादमी लड़के व लड़की दोनों को प्रशिक्षित करेगी।

मंदीप का कहना है कि बचपन में उन्हे काफी गुस्सा आता था। इसलिए उन्होंने दूसरे पर गुस्सा निकालने के लिए बॉक्सिंग सीखी। इसके बाद लंबे सफर और संघर्ष के बीच कॉमनवेल्थ गेम्स सहित कई में पदक भी जीते।

जांगड़ा ने कहा कि किसी भी खेल में ताकत से ज्यादा आत्मविश्वास की जरूरत होती है। जब तक व्यक्ति अंदर से मजबूत नहीं है वह खुद कुछ नहीं कर सकता है। जांगड़ा ने कहा कि प्रांरभिक कक्षाओं तक उनका खेलों से कोई लगाव नहीं था, लेकिन छठी कक्षा के कुछ विद्यार्थियों को देखा जो बॉक्सर बनने का सपना देख रहे थे।

उन्हें बॉक्सिंग करते  देख मैंने सोचा की जब ये लोग बॉक्सिंग कर सकते  हैं तो मैं क्यों नही। इसके बाद मैंने हरियाणा की विभिन्न खेल अकादमी में जाकर अभ्यास किया। कई बार लोग कमेंट्स करते तो कई रिंग में बुलाकर बॉक्सिंग करते।  उन्होंने बताया कि राजस्थान और हरियाणा की खेलनीति में ज्यादा अंतर नहीं है। बस युवाओं को समझना होगा कि खेलों में भी करियर है।

उन्होने यह भी बताया की निशुल्क प्रशिक्षण के लिए उन्होंने राजस्थान को इसलिए चुना क्योंकि यहाँ के युवाओं का सक्सेस रेट ज्यादा है और कहा कि इस अकादमी में लड़के व लड़की दोनों को प्रवेश दिया जायेगा।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *