70 साल में पहली बार नहीं दिया जाएगा साहित्य का नोबेल पुरस्कार

कैंसर थेरेपी की खोज के लिए संयुक्त रूप से जेम्स एलिसन तथा तासुकू हॉन्जो को दिया गया Nobel_Prize

वर्ष 2018 के लिए मेडिसिन के क्षेत्र में नोबल पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है। इस क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार नेगेटिव इम्यून रेग्यूलेशन के इनहिबिशन के ज़रिये कैंसर थेरेपी की खोज के लिए संयुक्त रूप से जेम्स एलिसन तथा तासुकू हॉन्जो को दिया गया। इस बार साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिए जाने का फैसला किया गया है।

मेडिसिन के नोबल पुरस्कार की घोषणा के बाद शांति के नोबल पुरस्कार पर लोगों की निगाह टिकी है। शांति के नोबल की घोषणा ओस्लो में होगी।  बता दें कि डायनामाइट के आविष्‍कारक एल्फ्रेड नोबेल की याद में हर वर्ष नोबेल पुरस्कार अवॉर्ड दिया जाता है।

आज चिकित्सा के नोबेल पुरस्कारों की घोषणा के साथ इस प्रतिष्ठित पुरस्कार समारोह की शुरुआत हो गई है। हालांकि, इस बार साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिए जाने का फैसला किया गया है। पिछले 70 साल में पहली बार ऐसा है कि साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिया जाएगा। हालांकि हर बार की तरह इस बार भी चिकित्सा, भौतिकी, रसायन, शांति और अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार पात्रों को दिया जाएगा।

यह दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है। हालांकि इस बार साहित्य का नोबल पुरस्कार किसी को न देने का फैसला हुआ है। दरअसल सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े ज्यां-क्लाउड अर्नोल्ट के यौन उत्पीड़न के आरोप में फंसने पर उपजे विवाद को देखते हुए नोबल पुरस्कार बांटने वाली एकेडमी ने इस बार साहित्य का पुरस्कार न देने का फैसला किया है।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *