इस बार मानसून के समय से पहले आने के आसार

 दिल्‍ली-एनसीआर और देश के कई हिस्‍सों में झुलसा देने वाली गर्मी का सामना कर रहे लोगों को राहत के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।

नई दिल्‍ली : उत्‍तर भारत के कई इलाके सप्‍ताह की शुरुआत से ही भीषण गर्मी की चपेट में हैं। हालांकि उन्‍हें इससे फौरी राहत की उम्‍मीद नहीं है, पर अगले दो-तीन दिनों में उन्‍हें झुलसा देने वाली इस गर्मी से राहत मिल सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, 29 मई को दिल्‍ली सहित उत्‍तर भारत के कई इलाकों में हल्‍की बारिश के आसार हैं, जिससे लोगों को तपिश से राहत मिल सकती है।

मौसम विभाग के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून शुक्रवार को दक्षिणी अंडमान सागर में दस्‍तक दे चुका है और अगले चार दिनों में यह केरल में दस्‍तक दे सकता है। आम तौर पर मानसून केरल में एक जून को दस्‍तक देता है, पर मौसम विभाग के अनुसार, इस बार यह चार दिन पहले दस्‍तक दे सकता है।

मानसून केरल में इस बार नियत समय से करीब तीन दिन पहले पहुंच रहा है। केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून 28 मई को सक्रिय होने के आसार हैं। केरल के बाद ही मानसून देश के उत्‍तरी हिस्‍से में पहुंचता है, जिससे राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली सहित दक्षिण भारत के राज्‍यों में भी गर्मी से राहत मिलती है। IMD के अनुसार, मानसून 14 जून के बाद देश के मध्‍य, पूर्वी और उत्‍तरी हिस्‍से में बढ़ेगा।

कई इलाकों में बाढ़ और सूखे की आशंका

हालांकि मौसम की जानकारी देने वाली कुछ स्‍वतंत्र एजेंसियों ने कई इलाकों में बाढ़ और सूखे को लेकर भी चेताया है। अमेरिका के एक्‍यूवेदर के अनुसार, मानसून की स्थिति हर जगह एक जैसी नहीं रहेगी और ऐसे में देश के उत्‍तर-पश्चिम और दक्षिण-पूर्वी हिस्‍सों में कुछ स्‍थानों पर सूखे की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।

एक्‍यूवेदर ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल और उत्‍तर प्रदेश तथा मध्‍य प्रदेश के कुछ इलाकों में भारी बारिश को लेकर चेताया है, जिससे बाढ़ जैसी स्थिति उत्‍पन्‍न हो सकती है।

वहीं, मौसम को लेकर अनुमान जताने वाली निजी इकाई स्‍काईमेट ने पिछले महीने ही कहा था कि देश के सभी हिस्‍सों में बारिश एक समान नहीं होगी। पूर्वोत्‍तर भारत के कई इलाकों में बारिश औसत से कम हो सकती है।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *