जो समाज अपने अधिकारों के प्रति जागरूक नहीं होता, उसे ही जानवरो की तरह हांका जाता है : लक्ष्य

गौतमबुद्ध व् बाबा साहेब डॉ भीम राव  आंबेडकर की मूर्तियों पर पुष्पार्पित

लखनऊ | लक्ष्य की हरदोई टीम द्वारा  ” लक्ष्य गांव गांव की ओर” अभियान के तहत  एक कैडर कैम्प का आयोजन हरदोई के संडीला के  गांव  बहेरिया  में  किया गया |

कैडर कैम्प की शुरुवात तथागत गौतमबुद्ध व् बाबा साहेब डॉ भीम राव  आंबेडकर की मूर्तियों पर पुष्पार्पित करके की गई |जो समाज अपने अधिकारो के प्रति जागरूक नहीं होता उस समाज को ही जानवरो की तरह हांका जा सकता है, ये बात कैडर कैम्प में लक्ष्य के कमांडरों ने कही |

लक्ष्य कमांडर ऐ.के. आनन्द ने मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए कहा कि अगर बहुजन समाज के लोग भी एक अच्छा जीवन चाहते है तो उनको अपने  अधिकारों के लिए संघर्ष शील होना होगा, आपस में भाईचारा बनाना होगा, सामाजिक कुरीतियों से  बचना  होगा  और  अपने  बच्चो  को  शिक्षा  की  ओर  प्रेरित करना होगा | उन्होंने कहा कि बहुजन समाज के युवाओ को भी इस सामाजिक क्रांति में आगे आना ही होगा |

गौतम बुद्ध की शिक्षा वैज्ञानिक सोच पर आधारित

लक्ष्य कमांडर शैलेन्द्र बौद्ध ने तथागत गौतम बुद्ध की शिक्षाओं पर जोर देते हुए कहा कि उनकी शिक्षाओं में अंधविश्वास,  ऊंच  नीच, भेदभाव जैसी कोई  चीज नहीं है | इसके  विपरित  यह  एक  वैज्ञानिक सोच  पर  आधारित  है  और  सभी   को  एक  समान  माना  जाता  है |  उन्होंने  कहा  कि  उनके  बताये  मार्ग से ही मनुष्य का उद्धार सम्भव है |

लक्ष्य कमांडर प्रीति चौधरी ने शिक्षा पर बोलते हुए कहा कि शिक्षा  ही मनुष्य को अंधकार से बहार निकालता है | अगर बहुजन समाज को विकास के मार्ग पर चलना है तो शिक्षा पर जोर देना होगाऔर बेटियों को भी ऊँची शिक्षा देनी होगी उनको भी ऊँची उड़ान के लिए प्रेरित करना होगा |

लक्ष्य कमांडर शिवांगी बौद्ध ने लक्ष्य के उद्देश्य व् कार्यो पर विस्तार से चर्चा की | उन्होंने कहा कि मानवीय अधिकारों के लिए एक एक व्यक्ति को जागरू व् संघर्ष शील होना होगा  तभी बहुजनसमाज का उत्थान सम्भव  है |

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *