‘मुंबई हमलों का मास्‍टरमाइंड हाफिज सईद चुनाव लड़े तो PAK Army को नहीं होगी कोई दिक्‍कत’

आतंक के मसले पर पाकिस्‍तान एक बार फिर बेनकाब हुआ है।

इस्‍लामबाद : पाकिस्‍तान में रह रहा हाफिज सईद मुंबई हमलों का मास्‍टरमाइंड है और अमेरिका ने उस पर इनाम का ऐलान भी किया है, पर आतंकी गतिविधियों को लेकर चौतरफा आलोचना झेलने के बावजूद पाकिस्‍तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के बजाय वह उन्‍हें पनाह दे रहा है। पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी पिछले दिनों अपनी सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े कर चुके हैं। ये अलग बात है कि वह बाद में पलट गए और उनकी पार्टी PML-N ने उल्‍टा भारतीय मीडिया के सिर ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि उनके नेता के बयान को गलत तरीके से लिया गया।

पाकिस्‍तान सरकार और देश की राजनीति में हावी सेना की नीतियों का ही नतीजा है कि हाफिज जैसा आतंकी भी अब चुनाव लड़ने की तैयारियों में जुट गया है। तमाम आपत्तियों के बावजूद पाकिस्‍तान सरकार उसे चुनाव लड़ने से रोकने के मूड में नजर नहीं आ रही है। अब तो देश की सेना ने भी खुलकर कह दिया है कि उसे हाफिज के चुनाव लड़ने से कोई परेशानी नहीं है।

निर्वाचन आयोग की शर्तों को पूरा करना ज़रूरी

पाकिस्‍तानी सेना की जनसंपर्क इकाई इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस (ISPR) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गूफर के मुताबिक, लश्‍कर-ए-तैयबा का संस्‍थापक हाफिज एक पाकिस्‍तानी नागरिक है और अगर उसकी पार्टी निर्वाचन आयोग की शर्तों को पूरी करती है तो सेना को उसके चुनाव लड़ने से कोई दिक्‍कत नहीं होगी।

‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साउथ एशिया मीडिया कॉन्‍फ्रेंस के दौरान गफूर ने कहा कि हाफिज पाकिस्‍तानी नागरिक है और हिंसा को छोड़ दिया जाए तो वह जो कुछ भी करता है, ठीक है। अगर वह चुनाव आयोग की शर्तों को पूरी करता है तो वह चुनावी राजनीति में उतर सकता है। इस बारे में फैसला निर्वाचन आयोग को लेना है। जहां तक सेना का सवाल है, उसे हाफिज के चुनाव लड़ने से कोई परेशानी नहीं है।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *