भारतीय निशानेबाजों ने रचा इतिहास, विश्वकप में पहले स्थान पर रहा भारत

भारतीय निशानेबाजों ने निशानेबाजी विश्वकप में इतिहास रच दिया है।

नई दिल्ली: भारतीय निशानेबाज मेक्सिको के गुआदालाजारा में हुए आईएसएसएफ विश्व कप के अंतिम दिन कोई पदक जीतने में कामयाब नहीं हुए। इसके बावजूद चार स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य पदक के साथ पदक तालिका में भारत शीर्ष पर रहा। आईएसएसएफ विश्व कप में यह मौका है जब भारत नौ पदकों के साथ तालिका में शीर्ष पर रहा है। सोमवार को पुरुषों की स्कीट स्पर्धा में ओलंपिक में दो बार के चैम्पियन अमेरिका के विंसेट हैनकॉक ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इस स्पर्धा में भारतीय निशानेबाज स्मित सिंह क्वालीफाइंग मुकाबले में 116 अंक के साथ 15वें स्थान पर रहे, 115 अंक के साथ अंगद बाजवा 18वें और शीराज शेख 112 अंक के साथ 30वें स्थान पर रहे।

हैनकॉक ने क्वालीफाइंग मुकाबलों में 125 में से 123 अंक बनाये और फाइनल में उन्होंने विश्व रिकॉर्ड की बाराबरी करते हुए 60 में से 59 अंक जुटाए। ऑस्ट्रेलिया के पॉल एडम्स का भी यही स्कोर था लेकिन शूट ऑफ में हैनकॉक ने एडम्स को 6-5 से पछाड़ कर खिताब अपने नाम किया। इटली के ताम्मारो कास्सांद्रो ने फाइनल में 49 अंक के साथ कांस्य पदक जीता।

शाहजार रिजवी, मनु भाकर, अखिल शेरॉन और ओम प्रकाश मिथार्वल ने विश्व कप में स्वर्ण पदक जीते। अंजुम मौदगिल ने रजत जबकि जीतू राय और रविकुमार जैसे दिग्गजों ने कांस्य पदक जीते। संजीव राजपूत हालांकि पदक जीतने में कामयाब नहीं रहे लेकिन उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और मामूली अंतर से पदक जीतने से चूक गये।

पदक तालिका (टॉप फाइव नेशन) 

देश            गोल्ड     सिल्वर     कांस्य     कुल  

भारत           4            1             4          9
अमेरिका      3            2             1          6
चीन             2            2             1          5
फ्रांस            1            2             3          5
रोमानिया     1            1             0          2    

Post Author: Paayal Malhotra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *