वाईएमसीए विश्वविद्यालय ने किया राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम से समझौता

निगम विद्यार्थियों को औद्योगिक जरूरतों के अनुरूप प्रशिक्षण प्रदान करेगा

फरीदाबाद – वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद ने विद्यार्थियों को औद्योगिक जरूरों के अनुरूप उन्नत प्रशिक्षण देने के दृष्टिगत राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड के साथ एक अकादमिक समझौता किया है, जिसके अंतर्गत निगम के नीमका, फरीदाबाद स्थित तकनीकी सेवा केन्द्र द्वारा विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

वाईएमसीए विश्वविद्यालय की ओर से डीन (अकादमिक) डॉ. विक्रम सिंह तथा निगम की ओर से उप महाप्रबंधक राजेश कुमार ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थित में समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. एस.के. शर्मा, निदेशक, इंडस्ट्री रिलेशन्स डॉ. रश्मि पोपली तथा निदेशक, एलुमनी व कारपोरेट अफेयर डॉ. संजीव गोयल भी उपस्थित थे।

अत्याधुनिक ढांचागत सुविधाओं का विकास

इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि इस अकादमिक समझौते से विश्वविद्यालय का उद्देश्य विद्यार्थियों को औद्योगिक जरूरतों के अनुरूप प्रशिक्षण प्रदान करना है जोकि उनके रोजगार एवं करियर के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि उद्योगों को रोजगार के लिए तैयार कार्यबल की आवश्यकता होता है और यह तभी संभव है, जब विद्यार्थी औद्योगिक जरूरतों के अनुरूप खुद को तैयार करें और तकनीकी जरूरतों के अनुरूप अपने जानकारी को बढ़ाये। उन्होंने कहा कि समझौते का लाभ ऐसे विद्यार्थियों होगा, जिन्हें किसी कारण से औद्योगिक प्रशिक्षण के अवसर नहीं मिल पाते, लेकिन निगम द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम से उनकी ऐसी जरूरतें पूरी हो सकेंगी। कुलपति ने विश्वविद्यालय द्वारा संचालित कम्युनिटी कालेज के अंतर्गत निगम के सहयोग से कौशल विकास पाठ्यक्रम शुरू करने का भी सुझाव दिया।

निगम के उप महाप्रबंधक राजेश कुमार ने कुलपति को अवगत करवाया कि राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड केन्द्र सरकार के सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय के अधीन देश तथा विदेशों में एमएसएमई के प्रोत्साहन तथा सहयोग की दिशा में कार्य करता आ रहा है और निगम का नीमका स्थित तकनीकी सेवा केन्द्र में अत्याधुनिक ढांचागत सुविधाएं विकसित की गई है, जो उद्यम की चाह रखने वाले विद्यार्थियों की पारम्परागत से लेकर उन्नत प्रशिक्षण एवं कौशल विकास जरूरतों पूरा करते हुए उन्हें रोजगार तथा स्वःरोजगार के अवसरों के लिए सक्षम बनाता है।

उन्होंने बताया कि केन्द्र में लौह, गैर-लौह, मिश्रित तथा विशिष्ट धातु के यांत्रिक तथा रासायनिक गुणों के परीक्षण के लिए उन्नत मशीनों की सुविधाएं है। इसके अलावा, केन्द्र में इंक्यूबेशन सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है, जहां विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार की मशीनों तथा प्रोजेक्ट पर काम करने का अवसर प्रदान किया जाता है तथा उनके बिजनेस आइडिया को सफल उद्यम में बदलने के लिए सहयोग दिया जाता है।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *