संगीत से सभी दुख दर्द दूर हो जाते है : गुरू

फरीदाबाद। हरियाली तीज के अवसर पर फरीदाबाद के सैक्टर 14 स्थित स्वर संगीत कला द्वारा सैक्टर 21 स्थित पार्क प्लाजा में एक समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें स्वर संगीत कला केन्द्र की महिलाओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और अपनी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सबको मंत्रमुग्ध किया।

इस मौके पर केन्द्र की संचालिका गुरू राधा शर्मा ने सभी की भूरि-भूरि प्रशंसा की और कहा कि संगीत ही वह माध्यम है जिससे सभी दुख दर्द दूर हो जाते है। उन्होंने कहा कि संगीत का प्रशिक्षण प्राप्त करने वाला प्रतिभागी अपने आपको बहुत ही सहेज कर रखता है ताकि उसकी आवाज एक कोयल की तरहहो और वह जब गाये तो सभी मंत्रमुगध हो जाये। इस कार्यक्रम को  सफल बनाने में रेनू जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

उन्होंने कहा कि इस केन्द्र को वह अपना परिवार मानती है। अपने हर शिष्य और शिष्याओं को न केवल संगीत की बारीकी सिखाती हे बल्कि मैडिटेशन (ध्यान) द्वारा उनके जीवन के हर पहलू को संवारती है। राधा शर्मा ने कहा कि हर वर्ग के विद्यार्थियों को कुशलतापूर्वक संगीत का प्रशिक्षण इस कला केन्द्र में दिया जाता हैै। उन्होंने कहा कि संगीत ही जीवन में उल्लास का स्त्रोत है।

सभी ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया

गुरू राधा शर्मा ने बताया कि समय समय पर संगीत के कार्यक्रमों का आयोजन यहां किया जाता है ताकि यहां प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिष्य व शिष्याएं एक अच्छा गीतकर बन सके और अपना मुकाम हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में महिलाओं और युवा गायक और गायिकाओ ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

इस मौके पर लावण्या अरोडा, तरू सिंघल, आदित्य मंत्री, दिव्या गर्ग, दीपांशु, सौम्या हर्ष, सोनम, सुमन, वैभव, भावना, अंजु गुप्ता, डा. नेहरा, डा. सविता आहूजा, दीपा, ज्योति शर्मा, निर्मल बंसल, नीरू छाबडा, सुनिता मंत्री, सुनिता शर्मा, आरती,नीलम अरोडा, अनिता ठक्कर, डा. अनीषा शपथी,
अनिता ठक्कर, सुप्रिया, नीलम नागर, शैली, रेनू ठक्कर, सुषमा मल्होत्रा, रशमी श्रीवास्तव, सुमन सरदाना और दिव्या सहित ने देशभक्ति के गीतों
को भी गाया और उसके बाद विभिन्न तरह केगीतां को गाकर आये हुए अतिथियों को मंत्रमुगध किया।

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *