ड्रग्स रैकेट मामले में एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी के 8 अकाउंट फ्रीज़, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

 

मुंबई।

ड्रग्स रैकेट मामले में एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी पर पुलिस ने शिकंजा कसता तेज़ कर दिया है।  लगभग 2 हजार करोड़ रूपए के ड्रग्स रैकेट मामले में ठाणे पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए उनके आठ अकाउंट फ्रीज़ कर दिए हैं। ममता पर इस तरह की सख्त कार्रवाई से उनके जल्द गिरफ्तार होने की खबरों के संकेत मिल रहे हैं।

जानकारी में सामने आया है कि फ्रीज़ किये गए अकाउंट में से 7 मुंबई के कल्याण, परेल, नरीमन प्वाइंट, धारावी, ठाणे और गुजरात के राजकोट और भुज में हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ ममता के इन खताओं में से एक में 67 लाख की विदेशी मुद्रा भी मिली है जबकि बाकि 7 अकाउंट में 26 लाख रूपए मिले हैं।

फिलहाल पुलिस ममता कुलकर्णी की बहन और दूसरे उन लोगों से पूछताछ कर रही है जिनके साथ इस अकाउंट से लेन देन हुए हैं। यही नहीं ठाणे पुलिस ने अब मुंबई और दूसरे शहरों में ममता और दूसरे आरोपियों की संपत्ति के बारे में भी जानकारी जुटाना शुरू कर दिया है।

ऐसे सामने आया ड्रग्स-ममता का कनेक्शन

दरअसल इस पूरे जहरीले नेटवर्क का खुलासा इसी साल अप्रैल में तब हुआ जब पुलिस को एक नाइजीरियन से पूछताछ में कुछ सुराग मिले थे। इसके बाद पुलिस ने सोलापुर की ड्रग फैक्ट्री में छापा मारकर 2 हजार करोड़ रूपए कीमत की ड्रग्स जब्त की थी। तफ्तीश आगे बढ़ी तब सामने आया कि सोलापुर की ड्रग कंपनी एवन लाइफ साइंसेज एफीड्रीन नाम की दवा को मेथ में बदलने का धंधा करती है। मेथ वो ड्रग्स है जिसकी नशे के बाजार में भारी डिमांड है। मामला तब और हाईप्रोफाइल हो गया जब इसका कनेक्शन बॉलीवुड एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी से जुड़ गया।  ममता कुलकर्णी इसी कंपनी का हिस्सा थीं जो ड्रग्स रैकेट के कारोबार में लिप्त पाया गया था।

पुलिस की माने तो 8 अप्रैल को दुबई के बुर्ज खलीफा में दुनिया के सभी बड़े ड्रग माफियाओं की एक अहम बैठक चल रही थी तो ममता कुलकर्णी और उसका पति और ड्रग माफिया विक्की गोस्वामी भी इसका हिस्सा था और इसी बैठक में तय हो रहा था कि भारत से 100 किलो एफीड्रेन कैसे भारत से लाई जाए।

दरअसल, एक तरफ भारत से ड्रग्स लाने की योजना बन रही थी तो दूसरी तरफ इस बैठक पर अमेरिकी एजेंसियां भी नजर गड़ाए हुए थी और इसकी जानकारी भारतीय एजेंसियों को भी मिली। इसी बैठक के चार दिन बाद यानि 12 अप्रैल को जब इस खेप को भारत से बाहर भेजने की तैयारी हो रही थी तो ठाणे पुलिस ने छापामार कर इस जहरीले नेटवर्क का भंडाफोड़ कर दिया।

इस मामले में 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था लेकिन सबसे बड़ा नाम ममता कुलकर्णी का ही था। ठाणे पुलिस इस मामले में पहले ही कोर्ट में चार्जशीट दायर कर चुकी है और उसका दावा है कि आरोपियों के खिलाफ उसके पास पुख्ता सबूत हैं।

Post Author: VOF Media

"आप बोलिये हम बहरे सिस्टम को भी सुना देंगे..."

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *