डीजीसीए ने कहा कि कंपनी यह बताए कि बोईंग विमान न चलने से आगे के यात्रियों का किराया न बढ़े इसके क्या इंतजाम कंपनी की तरफ से किए जा रहे है

कल होंगी 30-35 उड़ानें रद्द

नई दिल्ली। डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने इथोपिया में हुए विमान हादसे के बाद स्पाइस जेट और जेट एयरवेज से कहा है कि अपने ग्राउंड किए गए बोईंग विमानों के यात्रियों को या तो पैसा वापस दे या उनको दूसरे विमान से ले जाने का प्लान बताएं। डीजीसीए ने ये भी कहा कि कंपनी यह भी बताए कि बोईंग विमान न चलने से आगे के यात्रियों का किराया न बढ़े इसके क्या इंतजाम कंपनी की तरफ से की जा रही हैं। डीजीसीए ने बोईंग विमानों के स्थान को भरने का क्या उपाय किया जा रहा है इससे संबंधित अपनी मीटिंगों की जानकारी देने को भी कहा है।

इस पर स्पाइस जेट ने आश्वासन दिया है कि विमानों को रद्द करना सीमित समय के लिए होगा। इसका खास असर नहीं पड़ेगा। कल चुनौतीपूर्ण दिन होगा। 30-35 उड़ानें रद्द होंगी. सभी एयरलाइंस ने वादा किया है कि किराया सीमा के भीतर होगा। हम आज से ही किराए पर निगरानी शुरू कर देंगे।

बता दें कि इथोपिया में हुए विमान हादसे के बाद दुनिया भर में बोइंग 737 मैक्स विमान को लेकर डर बैठ गया है। जिसे देखते हुए भारत सरकार ने बोइंग 737 मैक्स विमान के भारत में उड़ने पर बैन लगा दिया है। सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया के दूसरे देशों ने भी बोइंग के 737 मैक्स विमान के उड़ने पर बैन लगा दिया है।

आज शाम 4 बजे तक भारत ने सभी बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है। इस आदेश के बाद स्पाइस जेट ने अपनी 14 फ्लाइट कैसिंल कर दी हैं। विमानन मंत्रालय ने आज 4 चार बजे एयरलाइंस की एक आपात बैठक बुलाई, जिसमें सरकार ने सभी फुल प्रूफ प्लान के साथ आने को कहा है।

भारत में बोइंग-737 मैक्स-8 के फिलहाल 18 विमान है। जिसमें स्पाइसजेट के 13 और जेट एयरवेज के 5 विमान हैं। भारत, चीन, इंडोनेशिया, सिंगापुर, ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया सरीखे देशों की करीब 20 एयरलाइन्स कंपनी ने इस मॉडल के जहाज़ की उड़ानें रोक दीं ।

Post Author: abha soni

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *