आंतकवादी हमले के विरोध में सरस्वती स्कूल के बच्चों ने निकाला जलूस

आतंकवाद के खिलाफ नारेबाजी कर जताया रोष

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सी.आर.पी.एफ के काफिले पर पाकिस्तान समर्थित जैश ए मोहम्मद आंतकवादी संगठन द्वारा किए गए आत्मघाती कायराना हमले में शहीद हुए 40 जवानों के विरोध में तिगांव स्थित सरस्वती शिशु सदन सीनियिर सैकेंडरी स्कूल व सरस्वती ग्लोबल स्कूल के छात्रों ने तिगांव की मार्किट व गांव में जलूस निकाला।

इस मौके पर छात्रों ने पाकिस्तान व आतंकवाद के खिलाफ नारेबाजी करके अपना रोष प्रकट किया। नारेबाजी कर रहे छात्रों में इस हमले को लेकर काफी आक्रोश था। जलूस से पहले छात्रों व अध्यापकों ने स्कूल के ग्राउंड में एकत्रित होकर शहीद जवानों को नम आंखों से भावभिनी श्रृद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर विद्यालय के चेयरमैंन वाई.के.माहेश्वरी ने अपने संबोधन मंे कहा कि वे पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन द्वारा किए गए कायराना हमले की कड.ी निंदा करते है। सरस्वती परिवार शहीद 40 रणबांकुरों की नमन करता है तथा सभी घायल जवानों के शीध्र स्वस्थ होने की कामना करता है।
आज देश के हर नागरिक में इस आतंकवादी घटना को लेकर रोष व्याप्त है। माहेश्वरी ने कहा कि अब समय आ गया है कि आंतकवादी रूपी नाग का फन पूरी तरह से कुचल दिया जाए और इसके लिए हमारी सेना को पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकवादी व आतंकवादी ठिकानों को नेस्तानाबूत करने की खुली छूट दी जानी चाहिए। जिससे अतंकवादियों को सबक सिखाया जा सके।

Post Author: abha soni

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *