सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक में 10 करोड़ तक का लोन बिना सिक्योरिटी उपलब्ध

मर्डर एक बैंक का -19
बस आपको दलालों के माध्यम से अफसरों की सेवा करनी पड़ेगी।

सौरभ भारद्वाज
चंडीगढ़। सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक में 10 करोड़ तक का होम लोन बिना कोलेटरल के उपलब्ध है। बस आपको दलालों के माध्यम से अफसरों की सेवा करनी पड़ेगी।
आम आदमी अगर एक लाख रुपये का होम लोन लेने भी किसी बैंक जाता है तो बैंक उसकी प्रॉपर्टी के कागज गिरवी रख लेता है। लेकिन सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक में 10 करोड़ तक का होम लोन बिना कोलेटरल के दे दिया गया। इस लोन की शर्तों को सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।

श्रीमती बिमला देवी पत्नी लाला राम वर्मा सह प्रार्थी लाला राम वर्मा पुत्र गंगाधन वर्मा एवं देवेंद्र वर्मा पुत्र लाला राम वर्मा को दिसंबर 2017 का एक होम लोन जीनियस फाइनेंस कंपनी लिमिटेड से सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ने टेकओवर किया। बैंक के ही एक वर्मा नामक दलाल ने बैंक के भ्रष्ट अधिकारियों से मिलकर यह लोन पास कराया। जिसके सेंक्शन लेटर में ही यह जिक्र है कि मकान की रजिस्ट्री एक साल में वर्मा परिवार जमा करा सकता है। मतलब बिना मकान की रजिस्ट्री को अपने कब्जे में लिए बैंक ने 10 करोड़ रुपये का लोन वर्मा परिवार को दे दिया। बताया जाता है कि इसमें 50 लाख रुपये की रिश्वत बैंक के भ्रष्ट अफसरों में ऊपर से लेकर नीचे तक बंटी।

मकान की रजिस्ट्री कब्जे में लेना बेहद जरूरी

बैंक के वर्ष 2013 में जारी एक सर्कुलर नंबर 67/13 दिनांक 17 जून 2013 में स्पष्ट है कि एक चेकलिस्ट को पूरा किया जाए जिसमें मकान की रजिस्ट्री कब्जे में लेना बेहद जरूरी है। इस लोन में तत्कालीन चेयरमैन डॉ. एमपी सिंह, जनरल मैनेजर बीके सिंह और जनरल मैनेजर राजेश गोयल का हाथ रहा है।

इसी एजेंट के माध्यम से तीन लोन बादशाहपुर में 6.08 करोड़ रुपये एक ही परिवार में होम लोन के नाम पर दिए गए। जबकि एक लोन झाड़सा ब्रांच में 2.8 करोड़ का दिया जिसमें लोन के जनरल मैनेजर बीके सिंह ने कुछ ऑब्जेक्शन लगाए थे, लेकिन बीके सिंह की ट्रांसफर के तुरंत बाद राजेश गोयल को कुछ दिन के लिए चार्ज मिला तो उसने ऑब्जेक्शन के बावजूद लोन तुरंत पास कर दिए। पीएनबी में राजेश गोयल को पहले भी गलत लोन किए जाने पर चार्जशीट किया जा चुका है। इस मामले की शिकायत बैंक के चेयरमैन आदि आला अधिकारियों से की गई तो उन्होंने चुप्पी साध ली।

सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ऑफिसर्स ऑग्रनाइजेशन और गुडग़ांव ग्रामीण बैंक वकर्स ऑर्गनाइजेशन के चीफ कॉर्डिनेटर मुकेश जोशी का कहना है कि हम काफी समय से बैंक में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ सभी एजेंसियों को समय-समय पर अवगत करा रहे हैं, लेकिन अब तक कोई उचित कार्रवाई नहीं हो रही है। आखिरकार अब हमें पीआईएल के माध्यम से हाइकोर्ट का सहारा लेना पड़ेगा और हम बैंक के सारे भ्रष्टाचार की जांच कराए बिना चुप नहीं बैठेंगे। जिस बैंक को हम सभी कर्मचारियों और अधिकारियों ने मिलकर एक मुकाम पर पहुंचाया था उसे हम बर्बाद होते हुए नहीं देख सकते।

Post Author: SAURABH BHARDWAJ

मशहूर पत्रकार सौरभ भारद्वाज पिछले लगभग दो दशक से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं। हिंदुस्तान, दैनिक जागरण, नवभारत टाइम्स जैसे मीडिया संस्थानों में प्रतिष्ठित पदों पर काम करने के बाद श्री भारद्वाज अब वीओएफ मीडिया के समूह संपादक के रूप में जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता श्री भारद्वाज अनेक सामाजिक संगठनों के साथ भी जुड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *