किसानों का बैंक उद्योगपतियों का फायदा

सौरभ भारद्वाज

चंडीगढ़। आज हम चर्चा करेंगे कि कैसे हरियाणा के किसानों के हित के लिए बने हरियाणा ग्रामीण बैंक में किसानों को लूट कर उद्योगपतियों को सस्ते लोन दिए गए। कैसे बैंक के चेयरमैन प्रवीण जैन ने तमाम नियमों को ताक पर रख कर मेसर्स जिंदल इंडस्ट्रीज को 27 लाख रुपए का फायदा पहुंचाया। 60 करोड़ की लेटर ऑफ क्रेडिट (एल सी) 11.25 फीसदी के ब्याज की बजाय सिर्फ 9.6 फीसदी की दर पर उपलब्ध करवा दिया। जबकि बैंक संस्थागत निवेशकों से 10.50 फीसदी की ब्याज दर से पैसा ले रहा था। दूसरी ओर प्रायोजक बैंक पीएनबी भी एलसी के लिए 10.25 फीसदी की दर से पैसा दे रहा था।
यह बात है हरियाणा ग्रामीण बैंक जिंदल चौक हिसार ब्रांच शाखा की है। बैंक का अपना ही एक सर्कुलर 2013 का है जिसमें 91 दिन तक ब्याज दर 9.6 था जबकि ये सारी एलसी 91 दिन से ज्यादा की थीं। इन्होंने अपने ही सर्कुलेशन का वायलेशन बैंक ने किया। अगस्त 2013 में बैंक ब्याजदर 10.5 फीसदी था। बैंक की बीपीएलआर 13.5 फीसदी थी।

        

इसकी शिकायत हुई मुख्यमंत्री उड़नदस्ते को जिसमें लीपा पोती करवाई गई। 22.01.2014 में परम जीत सिंह जम्मू एडवोकेट पंजाब एवं हरियाणा कोर्ट हरियाणा द्वारा सीएमडी पीएनबी, सीएमडी नाबार्ड, वित्त सचिव( डीएसएफ) व सभी डायरेक्टर्स को लीगल नोटिस भेजा गया। जबकि इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक ऑफिसर्स ऑर्गनाइजेशन और गुडग़ांव ग्रामीण बैंक वर्कर्स ऑर्गनाइजेशन्स के चीफ कॉर्डिनेटर मुकेश जोशी  के अनुसार  कर्मचारी संगठनों का काम है बैंक कर्मचारियों व ग्राहकों के हितों की रक्षा करना। लेकिन तत्कालीन बैंक कर्मचारी यूनियन तत्कालीन बैंक चेयरमैन प्रवीण जैन के प्रभाव में थी। जब मुख्यमंत्री उड़न दस्ते की जांच टीम पहुंची तो उस जांच को दबाया गया और वकील नोटिस एक वाइस प्रेसिडेंट के द्वारा दिया गया था उस को भी खत्म करवाने के लिए यूनियन के पदाधिकारियों ने वकील जम्मू को एक पत्र लिखा और इस मामले को खुर्दबुर्द का दिया गया। अगर इन मामलों की समय रहते जांच हो जाती तो नीरव मोदी और माल्या नहीं होते। इस मामले कि 2012 से अब तक सक्षम इजेंसी से जांच करवाए सरकार। और यूनियन पदाधिकारी अपने हितों के लिए ऐसी राजनीति न करें।

अगले अंक में बताएंगे कि कैसे हाउसिंग बोर्ड और हुडा के प्लॉटों के लिए कैसे  ईएमडी स्कीम में करोड़ों रुपए का किया घपला।

अन्य जानकारी के लिए संपर्क करें
9818347666

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *