सरकारी डॉक्टर ने मरीज से मांगी हवाई जहाज की टिकट, विज ने किया सस्पेंड

दवा लिखने के बदले डॉक्टर ने मांगी, विदेश दौरे के लिए टिकट, सस्पेंड
डॉ. नित्यानंद ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया

चंडीगढ़। दवा लिखने के एवज में माइक्रो लैब फार्मा कंपनी से एयर टिकट लेने के आरोप में पीजीआई रोहतक के डायरेक्टर डॉ. नित्यानंद को हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को सस्पेंड कर दिया। शिकायत में कहा गया है कि उन्होंने दवा लिखने के बदले विदेश दौरे के लिए कंपनी से टिकट बुक कराए।

आरोपी डॉक्टर ने अपनी सफाई में कहा कि ”मुझे बदनाम करने के लिए कुछ लोगों ने साजिश की है। मैंने कई मामलों की जांच की, जिसमें कई डॉक्टरों पर कार्रवाई तय है, लेकिन अभी उन पर एक्शन नहीं लिया गया। मेरे ऊपर लगे सारे आरोप निराधार हैं।”

ईमेल पर दस्तावेज मिलने पर स्वास्थ्य मंत्री विज ने कार्रवाई की

स्वास्थ्य मंत्री विज ने जांच मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च डिपार्टमेंट के एसीएस अमित झा को सौंपी है। दस्तावेज के मुताबिक डॉ. नित्यानंद ने 2013 में दिल्ली से वैंकूवर (कनाडा) की यात्रा की। डॉ. नित्यानंद ने माइक्रो लैब फार्मा को 1 जून 2013 को पत्र लिखा था कि 18वीं वर्ल्ड कांग्रेस में कनाडा जाना है। कृपया टिकट अरेंज कर दें। इसके बाद 4 जुलाई काे भी दिल्ली से वैंकूवर के लिए टिकट मांगा था। वापसी के लिए 2 सितंबर की बुकिंग का आग्रह किया।

डॉ. हेमंत दौड़ की ओर से ईमेल में कहा गया है कि डॉ. शर्मा को दिल्ली से वैंकूवर की एयर टिकट का प्रबंध करवाया जाए। डॉ. नित्यानंद ने इपोसिस-10 के 6 इंजेक्शन मरीज को लिखे हैं। नेहरा मेडिकल हॉल की ओर से 24 इंजेक्शन इपोसिस-10 के और 5 बॉक्स माइकोफेन का ऑर्डर मुझे किया गया है।

मंत्री के कार्यालय तक पहुंचे दस्तावेजों में डॉ. नित्यानंद की ओर से की गई हवाई यात्रा के टिकट का भी पूरा ब्योरा दिया गया है। उसमें दी गई जानकारी के अनुसार डॉ. नित्यानंद ने वैंकूवर के लिए ब्रिटिश एयरवेज से दिल्ली से उड़ान भरी। इसी प्रकार से वे वैंकूवर से दिल्ली वापस आए।

 

Post Author: VOF Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *